औपचारिक शिक्षा का अर्थ है किसी विषय पर सिलसिलेवार ढंग से पूरी जानकारी हासिल करना। उदाहरण के तौर पर एक राजमिस्त्री  लेबर का काम करते करते सीखकर भी बनता है और ITI से डिग्री प्राप्त करके भी बनता है , पर दोनों के अलगे महत्व है।  एक ब्यक्ति डॉक्टर के पास कम्पाउण्डर का का काम करके भी डॉक्टरी सीखता है और महाविद्यालय से डिग्री हासिल करके भी , दोनों के अलग मायने है।